भारत में मिलजुल कर रहने वाले विभिन्न धर्मों के लोग देश को एक सराहनीय पहचान प्रदान करते हैं। विभिन्न विचारधाराओं के लोगों के इस प्रकार मिलजुल कर रहने से देश में एक संदेह रहित सुखद वातावरण का निर्माण होता है। भारत में रहने वाले लोग किसी भी प्रकार की बाधाओं के बिना स्वतंत्रतापूर्वक अपने धर्म का पालन कर सकते हैं। यही कारण है कि देश के हर कोने में आपको किसी भी धर्म की आस्था मिल जायेगी।

दुनिया भर में लगभग 900 मिलियन हिन्दू धर्म को मानने वाले लोग रहते हैं और इस प्रकार हिंदू बाहुल्य वाले देश में हिंदू मंदिरों को खोजना कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी। देश में लाखों हिंदू मंदिर हैं। इनमें से कुछ बहुत ज्यादा प्राचीन हैं। कई हिंदू मंदिर ऐसी शैलियों से बनाये गये हैं कि देखने वाले आश्चर्यचकित हो जाएं।  भक्तों ने अपनी पुरानी विरासत का बहुत ध्यान रखा है जिसके कारण पुराने मन्दिर नष्ट होने से बचे हुऐ हैं।

भारत में मंदिरों की लंबी सूची में से दस मंदिरों को चुनना आसान नही है। आपके द्वारा चुने गए मंदिर उन लोगों को निराश कर सकते हैं जिनके पसंदीदा मंदिर इस सूची में शामिल नहीं होंगे।

फिर भी आज, मैंने दस मंदिरों पर उनकी लोकप्रियता, दृढ़ विश्वास, इतिहास और स्थापत्य महत्व के कारण प्रकाश डालने का प्रयास किया है। जिनमें यह मंदिर शामिल हैं-

भारत के प्रसिद्ध मंदिर

1.काशी विश्वनाथ मंदिर

स्थान: वाराणसी, उत्तर प्रदेश

भगवान शिव के नाम से प्रसिद्ध यह मंदिर भारत के सबसे पवित्र मंदिरों में से एक है। 1780 में अहिल्याबाई द्वारा इस मंदिर का निर्माण किया गया था। पवित्र गंगा नदी में स्नान द्वारा पापों से मुक्ति मिल जाने का विश्वास रखने वाले लोगों के लिये यह मंदिर अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है।

2.भगवान जगन्नाथ मंदिर

स्थान: पुरी, ओडिशा

भगवान जगन्नाथ मंदिर, 120 मंदिरों के आवास के साथ, यह भारत के सबसे पुराने मंदिरों में से एक है। 12 वीं सदी में बनाया गया यह मंदिर वार्षिक रथ यात्रा के लिए बहुत लोकप्रिय है। अनुयायियों का मानना है कि यहाँ पर देवी लक्ष्मी द्वारा महाप्रसाद बाँटा गया था और जिन्होंने इस प्रसाद को ग्रहण किया उनको आध्यात्मिक ज्ञान की प्राप्ति हुई थी।

 

3.वेंकटेश्वर तिरुपति बालाजी मंदिर

स्थान: आंध्र प्रदेश

तिरुपति बालाजी मंदिर भारत के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है, यहाँ पर प्रतिवर्ष लगभग 40 मिलियन आगंतुक आते हैं। यह देश का दूसरा सबसे धनी मंदिर भी है। इसका निर्माण कृष्णदेव राय के शासन काल में किया गया था। विशेष अवसरों पर, मंदिर में लगभग 5 लाख तीर्थयात्री आते हैं।

 

4.वैष्णो देवी मंदिर

स्थान: जम्मू

पहाड़ी की चोटी पर स्थित यह मंदिर भारत के प्रसिद्ध हिंदू मंदिरों में से एक है। शक्ति को समर्पित यह मंदिर देश का दूसरा सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। प्रतिवर्ष करीब 8 लाख श्रद्धालु यहाँ दर्शन के लिये आते हैं।

5.सोमनाथ मंदिर

स्थान: गुजरात

सोमनाथ मंदिर को भगवान शिव के प्रथम ज्योतिर्लिंग के रूप में सम्मानित किया गया है। ऐसा माना जाता है भगवान शिव के अभिशाप से मुक्त होने के बाद चंद्रदेव ने इस मंदिर का निर्माण किया था। तब से इस मंदिर की कई बार मरम्मत भी की जा चुकी है।

 

6.कामख्या देवी मंदिर

स्थान: असम

कामख्या देवी के नाम से जाना जाने वाला यह मंदिर, 51 शक्ति पीठों में से सबसे पुराना मंदिर है। तांत्रिक उपासकों के लिए सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ है। कामख्या देवी को सभी इच्छाओं की प्राप्ति की आस्था रखने वाले, पूजा के रूप में देवी पर बकरियों की बलि चढ़ाते हैं।

7. महाबोधि मंदिर परिसर

स्थान: बिहार

इसी स्थान पर भगवान बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति होने के कारण, यह बौद्ध धर्म को मानने वाले लोगों के लिये सबसे सम्मानित स्थलों में से एक है। यूनेस्को ने इसको विश्व विरासत स्थल के रूप में मान्यता दी है। यहाँ दर्शन करने के लिये दुनिया भर के हिंदू और बौद्ध आते हैं।

 

8. सिद्धिविनायक मंदिर

स्थान: महाराष्ट्र

मुंबई का सिद्धिविनायक मंदिर भगवान गणेश का एक प्रमुख मंदिर है, इसका निर्माण 1801 में किया गया था। मंदिर परिसर की आंतरिक छत सोने की तथा लकड़ी के दरवाजे अष्टविनायक की छवियों को तराश कर बनाये गये हैं।

9. रामनाथस्वामी मंदिर (रामेश्वरम)

स्थान: तमिलनाडु

दक्षिण भारत के सबसे लोकप्रिय मंदिरों में से एक, रामनाथस्वामी मंदिर भगवान शिव का निवास माना जाता है। यह देश में भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इस मंदिर के गर्भगृह में एक सीता देवी द्वारा निर्मित और एक भगवान हनुमान द्वारा निर्मित, दो शिवलिंग हैं।

 

10. शिर्डी साईं बाबा मंदिर

स्थान: महाराष्ट्र

साईं बाबा का यह पवित्र मंदिर भारत का तीसरा सबसे धनी मंदिर माना जाता है। शिर्डी- साईं बाबा की जन्म भूमि है, इसलिए, उनके अनुयायियों द्वारा यह तीर्थ स्थल के रूप में मानी जाती है। कई धर्मों के मानने वाले लाखों भक्त, प्रतिवर्ष इस मंदिर में दर्शन के लिये आते हैं। मंदिर में प्रतिवर्ष लगभग 35 करोड़ रूपये दान के रूप में आते हैं।

हालांकि भारत में बहुत से मंदिर हैं, इसलिए हर व्यक्ति के लिये यह सूची अलग है। सूची के बारे में अपने विचार प्रकट करते रहें।

मंदिर स्थान
चेन्नकेशव मंदिर बेलूर, कर्नाटक
सूर्य मंदिर (ब्लैक पगोडा ) कोणार्क (उड़ीसा)
बृहदेश्वर मंदिर (WHS) तंजौर, तमिलनाडु
गांगेयकोंडाचोलीश्वरम मंदिर (WHS) गांगेयकोंडाचोलीश्वरम, तमिलनाडु
ऐरावतेश्वर मंदिर (WHS) दारासुरम, तमिलनाडु
हजारा राम मंदिर (WHS) हम्पी, कर्नाटक
वीरूपक्ष मंदिर (WHS) पट्टकल, कर्नाटक
स्वर्ण मंदिर अमृतसर, पंजाब
जगन्नाथ मंदिर पुरी, उड़ीसा
कैलाश मंदिर एलोरा, महाराष्ट्र
महाबलेश्वर मंदिर उज्जैन (मध्य प्रदेश)
मीनाक्षी मंदिर मदुरई, तमिलनाडु
शोर मंदिर महाबलीपुरम, तमिलनाडु
सोमनाथ मंदिर जूनागढ़, गुजरात
तिरुपति मंदिर चित्तूर, आंध्र प्रदेश
सबरीमला पथानमथीट्टा, केरल
दिलवारा मंदिर माउंट आबु
कामाख्या मंदिर गुवाहाटी, असम
ज़ेश्ठा देवी मंदिर श्रीनगर, जम्मू और कश्मीर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.